Dekho Bhopal News

२६ वर्षीया भोपाल की निवासी निष्ठा एक माध्यम वर्ग के सामान्य परिवार से तालुकात रखती है। कार्मेल कान्वेंट बी.एच्.ई.ल. से स्कूलिंग करने के पश्चात निष्ठा ने अपनी महत्वाकांक्षाओं की उड़ान 2012 में राजस्थान के अलवर शहर से भरी। स्कूल में एक सामान्य विद्यार्थी होने की वजह से वे सदैव अपनी माँ द्वारा दी गयी नृत्यकाल, संगीत, लेखन और वाक् के हुनर को मंचन देने को तरसती रही। निष्ठा ने हिन्दुस्तानी संगीत में खेरागढ़ यूनिवर्सिटी से डिप्लोमा हासिल किया है, और भरतनाट्यम के क्षेत्र में भी वे डिप्लोमा होल्डर हैं। स्कूल में कुछ वाद विवाद की प्रत्यगिताओं मैं निष्ठा का नाम काफी मशहूर था परन्तु वे हमेशा अपनी माँ द्वारा समझाए गए मल्टी टास्किंग कांसेप्ट को विफल मानती रही। पर आखिर माँ कहाँ गलत होती है, ये एक बात निष्ठा को अपनी जीवन की उद्देश्य की तलाश में भटकाती रही। राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी में दाखिले के बाद, फ्रेशर्स पार्टी मैं निष्ठा को अपनी सारे हुनर का मंचन करने का अवसर प्राप्त हुआ, परन्तु वहां भी राह इतनी आसान कहाँ थी और मेट्रो सिटीज़ के स्टूडेंट्स के साथ कम्पीट करते वक्त निष्ठा ने एक बात समझी की मेहनत, द्रढ संकल्प और पक्के इरादे से जीवन में सब कुछ पाया जा सकता है, और इसे के साथ मिस फ्रेशर बनकर उन्होंने अपनी जीवन का एक सफल सफर आरम्भ किया। अपनी प्रतिभाओं का लगतार मंचन कर निष्ठा ने साल २०१३ में राजस्थान सरकार द्वारा नृत्य और गायन कला में उल्लेखनीय कार्य करने के फलस्वरूप बेटियां अवार्ड्स पाया।

यहीं से निष्ठा ने अपनी रूचि लीक से हटकर एक उपन्यास लिखने में दर्शायी और रक्षाबंधन की रचना २०१४ में प्रारम्भ हुई। समय समय पर निष्ठा ने जीवन के हर पहलू का अनुभव किया और इंजीनियरिंग की पढाई पूरी करने के बाद उन्होंने मित्सुबिशी से अपनी करियर की शुरुवात की पर एक ९ से ५ की नौकरी पिटारे में बंद सैकड़ों महत्वाकांक्षाओं को कहाँ उड़ान दे पात।  इसीलिए नौकरी के साथ निष्ठा ने एक सक्रीय कलाकार रहने का निश्चय किया और हर छोटे बड़े मंच पर संगीत और नृत्य का प्रदर्शन कर, ३ अगस्त २०२० में उन्होंने काफी संघर्ष के बाद अपने उपन्यास रक्षाबंधन का विमोचन किया। ये न सिर्फ एक किताब है पर निष्ठा इसे अपने जीवन की सबसे मज़बूत नीव मानती हैं।

जब ज़िन्दगी को इतने करीब से पिरोया जाए तो वो सिर्फ एक कहानी नहीं पर एक उम्मीद बन जाती है, बदलाव की उम्मीद।

रक्षाबंधन जो की निष्ठा का पहला उपन्यास था २७ सितम्बर २०२० को अमेज़ॉन पर नेशनल बेस्टसेलर #७ बन गया और इसे के साथ उनके छोटे शहर के सपनों को पंख मिल गए। विभिन्न अखबारों और मैगजीन्स में इंटरव्यू देने के बाद अक्सर निष्ठा को अपनी माँ द्वारा दिए गए नृत्य और गायन की कला का अधूरा मंचन खलता था और इसी कसक ने आगे की राह उन्हें दिखाई। नवंबर २०२० में मिख द्वारा आयोजित मिस इंडिया क्वीन ऑफ़ हर्ट्स के लास्ट एंट्री के तौर पर निष्ठा ने अपनी नयी उड़ान भरी। हर वर्ष की भाँती इस वर्ष भी मिख द्वारा आयोजित मिस इंडिया क्वीन ऑफ़ हर्ट्स 2020 ब्यूटी पेजेंट का आयोजन क्राउन प्लाजा, ग्रेटर नॉएडा में २१ से २३ दिसंबर के बीच हुआ जिसमे हिमांशी खुराना जी ने सेलिब्रिटी जूरी के तौर पर हिस्सा लिया। इस प्रतयोगिता में निष्ठा ने मध्य प्रदेश का प्रतिवेदन मिस केटेगरी के अंतर्गत किया। ३ दिन की इस प्रतिस्पर्धा में निष्ठा ने कई प्रत्योगिताओं में उल्लेखनीय प्रदर्शन किया और अंत में उन्हें मिस इंडिया शाइनिंग स्टार २०२० और मिस इंडिया विवासियस २०२० के शीर्षक से नवाज़ा गया।

इस सफलता के बाद निष्ठा मार्च महीने में एक इंटरनेशनल पेजेंट में भारत का प्रतिवेदन करने जा रही हैं। 

निष्ठा का मानना है कि इस प्रत्योगिता मैं जीतने के बाद उनका आत्मविश्वास और मज़बूत हो गया है और अब अपने इन्ही अनुभवों के साथ वे २०२१ में मध्य प्रदेश के लिए स्वयं का ब्यूटी पेजेंट घोषित करने जा रही हैं।  

निष्ठा अपने जीवन मैं महिलाओं और उनसे जुड़े भिन्न भिन्न क्षेत्रों में उलेखनीय कार्य करने का जज़्बा रखती है। अभी बहुत से उपन्यास हैं जो वे लिखना चाहती हैं और बहुत से सपने हैं जो वो पूरा करना चाहती हैं। 

“अभी तो बस शुरवात है, अभी वो सब करना है जो हम में से कई बस सोच कर रह जाते हैं ” – निष्ठा