Dekho Bhopal News

जब घर में रोटी कम बने तो बच्चों का पेट भरने के लिए माँ कह देती है ‘मुझे भूख नहीं है’। माँ ममता की ऐसी मूरत है जिसके पैर जीवनभर धोकर भी पिये जाए तो कम है। ऐसी ही एक माँ की कहानी आज हम आपको बताने जा रहे हैं। यह कहानी है तमिलनाडु के शहर सलेम की, जहाँ 3 बच्चों की मां प्रेमा (31) ने अपने भूखे बच्चों को खिलाने के लिए कुछ ऐसा किया जो आप सोच भी नहीं सकते। जी दरअसल माँ ने अपने सिर के बाल मुड़वा दिए और उन्हें 150 रुपये में बेच दिया।

जी दरअसल प्रेमा के पति सेल्वन ने आत्महत्या कर ली थी और पति की आत्महत्या का कारण उसका कर्ज के बोझ से दबना बताया गया। प्रेमा और सेल्वन दोनों ही ईंट भट्ठा मजदूर थे और दोनों ने अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी पैसे उधार लिए थे। दोनों ने उधार ले-लेकर 2.5 लाख से ज्यादा का कर्ज ले डाला था। इसी कर्ज से परेशान होकर पति ने तो आत्महत्या कर ली लेकिन प्रेमा ने अपने बच्चों के लिए जिंदगी को चुना। जब प्रेमा के पास पैसे खत्म हो गए तो उसने अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से पैसे मांगे लेकिन सबने हाथ पीछे कर लिए। अंत में गांव के एक आदमी ने प्रेमा के सामने एक प्रस्ताव रखा।

युवक ने कहा कि, ‘अगर वह उसे सिर के बाल दे तो वह उसे पैसे देगा।’ यह सुनकर प्रेमा ने कुछ न सोचा क्योंकि उसे अपने बच्चों का पेट भरना था। उसने तुरंत अपने बाल 150 रुपये में बेच दिए। पैसे मिलते ही प्रेमा ने अपने बच्चों को खाना खिलाया। प्रेमा की कहानी जब एक ग्राफिक डिजाइनर ‘जी बाला’ को पता चली तो उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से प्रेमा के लिए क्राउड फंडिंग की। इस दौरान प्रेमा के लिए करीब 1.45 लाख रुपये जमा हो गए हैं और इसी के साथ ही जिला प्रशासन ने प्रेमा को मासिक विधवा पेंशन की मंजूरी दे दी है। वैसे प्रेमा को देखकर कहा जा सकता है माँ ही है जो हर स्थिति में लड़ लेती है और कभी भी डगमगाती नहीं है।